Aantariksh Ek Nayi Duniya Ek Naya Bhavishya – by K. Siddharth

इस पुस्तक के संदर्भ में

भारत अंतरिक्ष युग में प्रवेश कर गया है, अंतरिक्ष पहले भी हमारी सारी समस्याओं का समाधान कर रहा था। मोबाइल और इंटरनेट उसी का अंश हैं। चंद्रयान ने उसी के प्रति एक नई जागरुकता पैदा की है। चंद्रयान की सफलता भारत की अब तक की सबसे बडड़ी वैज्ञानिक सफलता है। इसने विज्ञान अर्थव्यवस्था और राजनीतिकरण के बिल्कुल नए आयाम खोल दिए हैं।

अंतरिक्ष विज्ञान पर हिंदी में बहुत पुस्तकें नहीं हैं और आसान भाषा में आम पाठकों को समझ में आने लायक शायद ही किसी पुस्तक का नाम जेहन में आता है। इसी मूल विचार के साथ अंतरिक्ष अक नई दुनिया एक नया भविष्य किताब को लिखने की प्रेरणा सहज ही मन में जगी। इस किताब की विशेषता ज्ञान को शामिल करना है। इस किताब की सबसे बड़ी विशेषता इसकी सहज, सरल, आकर्षक और आसानी से कठिन वैज्ञानिक विषय को समझाने की खूबी है।

पुस्तक में यह प्रयास किया गया है कि कठिन से कठिन अंतरिक्ष शब्दावली को आसान से आसान भाषा में किस तरह से पिरोया जाए, जिससे कि उसका मूल अर्थ भी प्रभावित न हो और साधारण पाठक को उसके बारे में पूरी और सही जानकारी भी हासिल हो सके। जैसा कि कहा गया है साधारण होना बहुत कठिन बात होती है।

अंतरिक्ष विज्ञान को केवल एक विज्ञान के रूप में नहीं जानना चाहिए, क्योंकि आज अंतरिक्ष विज्ञान हमारी अर्थव्यवस्था और सुरक्षा की रीढ़ बनता जा रहा है। अगर देश का आम नागरिक अंतरिक्ष विज्ञान और उसके अनुप्रयोगों के महत्व की जानकारी रखेगा तो उसे देश की प्रगति में इसकी भूमिका का अंदाजा खुद-ब-खुद लग जाएगा। यह पुस्तक उन सभी साधारण पाठकों के साथ साथ विद्यार्थियों और बुद्धिजीवियों के लिए भी है जो इस नवीन आयाम का सुख उठाना चाह रहे हैं।

Buy at Amazon

Other Books: