अंतरिक्ष एक नई दुनिया एक नया भविष्य अंतरिक्ष विज्ञान की अन्तहीन दुनिया, कितना आसान, कितना सहज | के. सिद्धार्थ

अंतरिक्ष

एक नई दुनिया

एक नया भविष्य

अंतरिक्ष विज्ञान की अन्तहीन दुनिया, कितना आसान, कितना सहज

के. सिद्धार्थ

भारत अंतरिक्ष युग में प्रवेश कर गया है।

अंतरिक्ष ने हमारा बहुत काम आसान किया है, अंतरिक्ष की तकनीक ने हमारे जीवन की बहुत सारी मुश्किलों का समाधान किया है। अंतरिक्ष पहले भी हमारी सारी समस्याओं का समाधान कर रहा था। मोबाइल और इंटरनेट उसी का अंश हैं। चंद्रयान ने उसी अंतरिक्ष के प्रति एक नई जागरुकता पैदा की है। चंद्रयान में प्रयुक्त तकनीक भारत को एक नए वर्ग में रखने की कोशिश है। ISRO ने गुणवत्ता के नये मापदंड स्थापित किये हैं और चंद्रयान उसका हिस्सा है। अंतरिक्ष में सफलता भारत की अब तक की सबसे बड़ी वैज्ञानिक सफलता है। इसने विज्ञान अर्थव्यवस्था और राजनीतिकरण के बिल्कुल नए आयाम खोल दिए हैं।

“अंतरिक्ष एक नयी दुनिया, एक नया भविष्य” अंतरिक्ष विज्ञान के प्रत्येक पहलू को आसान भाषा में समझाने के लिए यह एक प्रयास है। इस प्रयास का उद्देश्य आम पाठक को आसान भाषा में अंतरिक्ष विज्ञान की बारीकियों की पूरी जानकारी देना है, जिससे कि उनके अंदर अंतरिक्ष को लेकर न सिर्फ नयी जिज्ञासा का भाव पैदा हो बल्कि उनकी जो भी नयी जिज्ञासाएं जागृत हुई हैं उनके उत्तर भी मिल जाएं और साथ ही साथ वह यह भी समझ सकें कि अंतरिक्ष हमारे लिए कितना उपयोगी और महत्वपूर्ण है और भविष्य में कितना अधिक महत्वपूर्ण हो सकता है।

अंतरिक्ष हमारी कल्पना को एक नया पंख तो दे ही रहा है। साथ ही हमें असंख्य नयी सूचनाएं भी दे रहा है, उन सूचनाओं के उपयोग करने की विधि भी बता रहा है और हमारे भविष्य को एक नई आशा से भिंगोने का काम भी कर रहा है। जैसे कि कहा जा रहा है कि आने वाले भविष्य में डाटा ही अर्थव्यवस्था के लिए ईंधन का काम करेगा। ये डाटा अब कहां से आयेगा आता है। इन सारी चीजों को समझाने का काम इस पुस्तक में किया गया है।

पुस्तक में 10 अध्याय हैं, जिसमें अंतरिक्ष के बारे में सारी जानकारी दी गई है। जैसे अंतरिक्ष क्या है? वहां का वातावरण कैसा है? शून्य गुरुत्वाकर्षण में क्या समस्याएं हो सकती हैं? अंतरिक्ष के खगोलीय पिंडों की गति और उनके गुरुत्वाकर्षण बल का क्या असर होता है? सेटेलाइट क्या है और यह कैसे काम करती है? कैसे राकेट अंतरिक्ष में आगे बढ़ते हैं? हमारे चन्द्रायन कि क्या टेक्नोलोजी थी? हमारे चंद्रयान को क्यों इतना समय लगा ? विक्रम (Lander) को कहां समस्या हुई और क्यों इससे सम्पर्क टूट गया? अगर चन्द्रमा पर हम उतर गये होते तो हमारा क्या रूतबा होता और अभी क्या है? अंतरिक्ष कैसे हमारी अर्थव्यवस्था और हमारी मारक क्षमता को भी निर्धारित करेगा? अंतरिक्ष से सम्बन्धित मुददे क्या हैं? कचरों का क्या समाधान है? और भविष्य का अंतरिक्ष कैसा होगा? ऐसे बहुत सारे प्रश्न जो किसी के भी मन में आये यहां उन सभी बातों को विस्तार से समझाया गया है। इन सभी चीजों को बहुत आसान भाषा में बताया गया है। इस पुस्तक में चित्रों का भी भरपूर उपयोग किया गया है जिससे पाठकों को अंतरिक्ष की बारीकियां समझाने का प्रयास किया गया है, जिससे कि पाठक इस किताब को में निहित गंभीर जानकारियों को आनंदित रूप में ले पायें।

अंतरिक्ष एक नयी दुनिया, एक नया भविष्य 

 

  1. अंतरिक्ष क्या है?
  2. अंतरिक्ष विज्ञान में प्राचीन भारत का योगदान
  3. अंतरिक्ष की यात्रा और यान
  4. अंतरिक्ष कैसे हमारा जीवन सुखमय करता है?
  5. भारत अंतरिक्षअनुसंधान कार्यक्रम
  6. भारत की अंतरिक्ष में उपलब्धियां
  7. चांद, चन्द्रमाएँ एवं चंद्रयान
  8. अंतरिक्ष – एक नयी दुनिया, एक नयी अर्थव्यस्था, एक नया हथियार एक नया भविष्य
  9. अंतरिक्ष से संबंधित मुद्दे
  10. अंतरिक्ष का नवीन सामरिक स्वरुप
Buy at Amazon

Other Books: